Monday, 6 July 2015

गर्मियों में सुकून देती है बर्फ से लदी ये खूबसूरत वादियां


डॉ. अरूण जैन
उत्तर भारत में ऐसे कई हिल स्टेशन हैं, जहां आप गर्मी से राहत पा सकते हैं और परिवार व दोस्तों के साथ फुर्सत के दो पल बिता सकते हैं। तो आइए आपको भी ऐसी कुछ जगहों पर ले चलते हैं, जो गर्मियों में पर्यटन क लिए मशहूर हैं। कश्मीर- पृथ्वी का स्वर्ग कहा जाने वाला कश्मीर प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर हैं। हिमालय और पीर पंजाब पर्वत श्रृंखला के बीच बसा कश्मीर उत्तर भारत के मुख्य हिल स्टेशनों में से एक हैं। यहां का डल झील बेहतरीन पर्यटक स्थलों में से है। साथ ही इसके किनारे बसा हजरत-बल-मस्जिद दर्शनीय है। झेलम के किनारे बसा भवानी का मंदिर, शंकराचार्य मंदिर, मार्तडय सूर्य मंदिर और शालीमार गार्डन बेहतरीन पर्यटक स्थलों में से एक है। केदारनाथ- उत्तराखंड के रूद्रप्रयाग जिले में बसे केदारनाथ की यात्रा अपने आप में पावन हैं। 3,584 मीटर की ऊंचाई पर स्थित चारों धामों में से यह हिंदुओं का सबसे पवित्रधाम है। बारह ज्योर्तिलिंग में सबसे पवित्र ज्योर्तिलिंग यहीं देखने को मिलता है। मंदिर के पास मंदाकिनी नदी का कल-कल बहता पानी मन को शांति देता हैं। भगवान शिव के दर्शन के लिए दूर-दूर से पर्यटक यहां आते हैं। मनाली- समुद्रतल से 1950 मीटर की ऊंचाई पर बसा हैं हिमाचल प्रदेश का मनाली। यहां के खूबसूरत पहाड़ पर्यटकों की पहली पसंद है। हिमाचल की राजधानी शिमला से 250 किलोमीटर दूर कुल्लू-मनाली के सुंदर दृश्य, गार्डन, पहाड़ों और सेब के बाग पर्यटकों की अपनी तरफ आकर्षित करते हैं। हिमालय नेशनल पार्क, हिडिंबा मंदिर, सोलांग घाटी, रोहतांग पास, रघुनाथ मंदिर और जगन्नाथी देवी मंदिर दर्शनीय है। श्रीनगर- कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी है श्रीनगर। इस खूबसूरत शहर में पर्यटन के लिहाज से देखने के लिए बहुत कुछ है। खूबसूरत झील, ऐतिहासिक व धार्मिक स्थल और पुरातत्व से धनी है श्रीनगर। पर्यटकों में यहां का शालीमार बाग, शाही चश्मा, और परी महल बेहद खास है। शिमला- 2202 मीटर की ऊंचाई पर बसे इस खूबसूरत इलाके को पहाड़ों की रानी कहा जाता है। शिमला में सबसे बेहतरीन आइस स्केटिंग का मजा लिया जा सकता है। हर सर्दियों में होने वाली बर्फबारी इसे और भी खूबसूरत बना देती हैं। हर तरफ फैली बर्फ की सफेद चादर इस शहर को प्राकृतिक खूबसूरती देती हैं। शिमला ट्रेकिंग के लिए भी प्रसिद्ध है। लेह- हिमालय के बीच स्थित हैं लेह। यहां की प्राकृतिक सुंदरता कुदरत का वरदान है। यहां बौद्ध धर्म और मस्जिद के अनेक स्मारक हैं। बर्फ से ढ़की हिमालय की चोटियां लेह को और भी खूबसूरत बनाती हैं। लेह की सुंदरता देखने के साथ-साथ यहां पर्यटक ट्रेकिंग का आनंद भी ले सकते हैं। मसूरी- 2500 मीटर की ऊंचाई पर बसा मसूरी प्राकृतिक दृश्यों का धनी हैं। 1820 में ब्रिटिश की अंग्रेजी सेना यहां की बेहतरीन खूबसूरती से प्रभावित थी। उसने यहां अपने लिए आवास बनाए। यहां का यात्रा उन लोगों के लिए सुखद हैं जो दिल्ली और दूसरे स्थानों की गर्मी से राहत पाना चाहते हैं। प्रकृति ने मसूरी को खूबसूरती वरदान में दिया है। नैनीताल- उत्तराखंड के कुमाऊं के निचली पहाड़ी क्षेत्र में बसा है नैनीताल। नैनी झील के लिए मशहूर नैनीताल को झीलों का जिला कहा जाता है। नैनीताल की कई घाटियों में नाशपाती के आकार की झील देखने को मिलती है। यह झील चारों तरफ से पहाड़ों से घिरी हैं और पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र भी है। नैनीताल का नाम यहां की प्रसिद्ध देवी नैना के नाम पर पड़ा है। मुख्य पर्यटक स्थल में टिफिन टॉप, नैनी लेक, नैना पीक वगैरह हैं। उत्तर भारत में इसके अलावा और भी कई ऐसे पर्वतीय क्षेत्र हैं, जहां आप सुकून के कुछ पल बिता सकते हैं। गर्मियों की चिलचिलाती गर्मी से कुछ आराम चाहिए तो कर आइए इन हिल स्टेशनों की सैर।

No comments:

Post a comment