Thursday, 14 April 2016

मेला क्षेत्र में 5 लाख 20 हजार वर्गफीट में, 52 स्थानों पर नेटवर्क कम्पनियों के टॉवर होंगे

डॉ. अरूण जैन
सिंहस्थ में अपनो से सम्पर्क का सबसे महत्वपूर्ण साधन मोबाईल होगा। मोबाइल फोन के बढ़ते उपयोग को देखते हुए मेला प्रशासन ने मोबाइल नेटवर्क कम्पनियों के साथ मिलकर एक बड़ी योजना बनाई है। इस योजना में ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि सिंहस्थ के दौरान एक ही समय पर एक साथ दो लाख कॉल किये जा सकेंगे। सिंहस्थ के दौरान मोबाइल नेटवर्क और टॉकिंग कैपेसिटी तकनीक पर नेटवर्क कम्पनी द्वारा जोर दिया गया। मोबाइल नेटवर्क कम्पनियों को पूरे मेला क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर 52 प्लॉट आवंटित किये हैं। इरलॉग टैक्नोलॉजी के उपयोग से हो सकेंगे सतत् दो लाख कॉल सिंहस्थ के दौरान मोबाईल से सम्पर्क करने में किसी प्रकार की समस्या न हो इसलिए मोबाईल नेटवर्क कम्पनियां कुंभ मेलों में पहली बार इरलॉग टेक्नोलॉजी का उपयोग करेगी।  इस तकनीक के उपयोग से 8म8म8 कन्फीगरेशन की सहायता से वॉइस, एसएमएस और इंटरनेट डाटा के लिए नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाता है।  इरलॉग टेक्नोलॉजी दूरसंचार सिस्टम में नेटवर्क ट्रॉफिक घनत्व की ईकाई है, जो किसी विशेष माध्यम (स्पेसिफिक चैनल) के लिए एक घंटे में 3600 सेकैंड के बराबर होती है।  पूरे मेला क्षेत्र में 5 लाख 20 हजार वर्ग फीट में लगेंगे टॉवर सिंहस्थ के दौरान नेटवर्क और टॉकिंग व कनेक्टिंग कैपिसीटी के लिए विभिन्न कंपनियाँ अपने-अपने टॉवर लगाएगी।  विभिन्न कंपनियों को टॉवर लगाने के लिए मेला कार्यालय द्वारा 52 प्लॉट आवंटित किए गये हैं।  इसके अलावा मोबाइल नेटवर्क प्रदान करने वाली कंपनियाँ आपस में टॉवर शेयरिंग करने के लिए भी सहमत हैं। एक प्लॉट 10 हजार वर्गफीट का है। मेला क्षेत्र में विभिन्न कंपनिंयों के मेला अवधि में 77 अतिरिक्त टॉवर लगाये जाएंगे।  52 टॉवर स्वयं कंपनियाँ अपने-अपने स्थानों पर लगाएगी।  जबकि 25 टॉवर शेयर किये जाएंगे। 9 टॉवर रिलायंस, 24 टावर आइडिया, 27 टॉवर एयरटेल, 17 टॉवर वोडाफोन द्वारा लगाए जायेंगे।  रिलायंस और वोडाफोन कंपनियाँ किसी अन्य के साथ टॉवर शेयर नहीं करेगी।  जबकि आइडिया 14 और एयरटेल 11 आपस में शेयर करेगी। दत्तअखाड़ा झोन में बीएसएनएल का मिनी एक्सचेंज होगाभारत संचार निगम लिमिटेड दत्त अखाड़ा झोन में एक मिनी एक्सचेंज आफिस बनाएगी।  

No comments:

Post a comment