Monday, 7 December 2015

12 वर्ष में सिंहस्थ का बजट 100 गुना बढ़ा




डॉ. अरूण जैन
सिंहस्थ पड़ाव क्षेत्र के लिये 3061 व सेटेलाईटटाऊन के लिये 352 हेक्टेयर जमीन अधिसूचित । इसके पूर्व 2004 में हुए सिंहस्थ के लिये 2154.42 हेक्टेयर जमीन अधिसूचित हुई थी।  इस बार 2515 करोड़ के निर्माण, जबकि गत सिंहस्थ में बजट था मात्र 262 करोड़। कस्बानुमा उज्जैन शहर अब महानगर की तर्ज पर विकसित हो रहा है। जो लोग लम्बे समय बाद उज्जैन को देखेंगे, वे इसके परिवर्तित रूप से चकित हो जायेंगे। 
सिंहस्थ-2016 के लिये उज्जैन कस्बा एवं आसपास के ग्रामों के पटवारी हलकों की कुल 3061 हेक्टेयर जमीन पड़ाव क्षेत्र के लिये और 352 हेक्टेयर सेटेलाईट टाऊन के लिये अधिसूचित की गई है। इस हिसाब से पिछले सिंहस्थ से इस बार 1259 हेक्टेयर अधिक क्षेत्र में मेला आयोजित होगा।  3061.60 हेक्टेयर में सिंहस्थ के लिये भूमि अधिसूचित की गई है। सिंहस्थ-2016 के लिये बनाये जाने वाले छह सेटेलाईट टाऊन के लिये भी विभिन्न क्षेत्रों की जमीन अधिसूचित कर दी गई है। सिंहस्थ में 6 झोन व 22 सेक्टर होंगे सिंहस्थ-2016 के लिये तैयार की गई कार्य योजना के तहत मेला क्षेत्र एवं शहर को कुल छह झोन एवं 22 सेक्टर में विभक्त किया गया है।प्रत्येक सेक्टर में सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की जायेगी एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जायेगी। सिंहस्थ में झोन क्रमांक-1 मंगलनाथ झोन रहेगा। इसके अन्तर्गत तीन सेक्टर मंगलनाथ, खाकचौक व आगर रोड पर स्थापित होंगे। इसी तरह झोन क्रमांक-2 काल भैरव में गढ़कालिका, सिध्दवट तथा काल भैरव सेक्टर होंगे। झोन क्रमांक-3 महाकाल पर स्थापित होगा। इस झोन में लाल पुल, रामघाट, महाकाल, हरसिध्दि, नरसिंह घाट, गोपाल मन्दिर व चिन्तामन गणेश में सेक्टर बनाये जायेंगे। झोन क्रमांक-4 दत्त अखाड़ा क्षेत्र में रहेगा। इस झोन में भूखी माता, मुल्लापुरा, उजडख़ेड़ा-1, उजडख़ेड़ा-2, रणजीत हनुमान तथा दत्त अखाड़ा सेक्टर बनाये जायेंगे। झोन क्रमांक-5 चामुण्डा माता पर होगा। इस झोन में फ्रीगंज सेक्टर रहेगा। झोन क्रमांक-6 त्रिवेणी क्षेत्र में रहेगा। इसमें त्रिवेणी व यंत्र महल सेक्टर शामिल रहेंगे। सिंहस्थ-2016 के लिये राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर खजाने के द्वार खोल दिये हैं। गत सिंहस्थ-2004 में यहां मात्र 262 करोड़ रूपये का व्यय सिंहस्थ पर किया गया था और गिनेचुने स्थायी प्रकृति के काम हुए थे वहीं इस बार अनेक काम ऐसे हो रहे हैं जो नगर की दिशा और दशा बदल देंगे।  362 करोड़ की सड़कें मेट्रो सिटी का अहसास करवायेंगी। इस बार सिंहस्थ में केवल सड़कों पर निर्माण के लिये 362 करोड़ का व्यय किया जा रहा है। लगभग सौ नई सड़कें तैयार हो रही हैं, चार फोरलेन पूर्ण हो चुके हैं। गत सिंहस्थ में लोक निर्माण विभाग का कुल बजट मात्र 51 करोड़ रूपये था। इस बार प्रमुख रूप से इंजीनियरिंग कॉलेज रोड, एमआर-10, एमआर-5 को फोरलेन में तब्दील किया जा चुका है। इस पर सेन्ट्रल लाईटिंग भी लग गई है। यह मार्ग इनर रिंग रोड से जुड़ जायेंगे और सारा ट्रैफिक बाहर के क्षेत्र में रहेगा ।

No comments:

Post a comment