Tuesday, 16 April 2019

कमलनाथ ही तय करेंगे लोकसभा उम्मीदवारों के नाम

डाॅ. अरूण जैन


विधानसभा चुनाव जीतकर भाजपा को पंद्रह साल की सत्ता से बाहर करने के बाद अब कांग्रेस की नजऱ प्रदेश की सभी 29 लोकसभा सीटों पर नजऱ है। पार्टी ने इसके लिए विन 29 का लक्ष्य भी तय कर लिया है। पार्टी आलाकमान प्रदेश स्तर के कांग्रेस के सभी दिग्गज नेताओं के नामों को लेकर मंथन करने में जुटी हुई है। वहीं, प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 16 लोकसभा सीटों की रायशुमारी करने के बाद ये बात पूरी तरह साफ कर दी है कि, जिस तरह सर्वे के आधार पर विधानसभा प्रत्याशियों के टिकट बांटे गए थे, उसी तरह अब लोकसभा चुनाव के लिये प्रत्याशियों का चयन किया जाएगा। यानि, हर सीट के लिये प्रत्याशी का सर्वे किया जा रहा है, जनता के बीच जिसका रिकॉर्ड सबसे सुलभ होगा उसी को टिकट देकर उम्मीदवारी का मौका दिया जाएगा। इस तरह चुना जाएगा प्रत्याशी लोकसभा प्रभारी और मंत्रियों से हुई चर्चा में कुछ उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा हुई, जिसके बाद सीएम को कुछ संभावित नाम बंद लिफाफे में सौंपे गए हैं, चर्चा में आए उन नामों को सीएम खुद सर्वे में सामने आए नामों से मिलान करेंगे इसमें जिस प्रत्याशी का नाम सर्वे और चर्चा के आधार पर प्रबल होगा उसे टिकट दिया जाएगा। अगर मंत्रियों से हुई चर्चा में किसी प्रत्याशी का नाम सामने आया था और उसका नाम सर्वे लिस्ट में अनुकूल प्रत्याशियों में नहीं है, तो कमलनाथ ये साफ कर चुके हैं, कि उस प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया जाएगा। ्रढ्ढष्टष्ट कर रहा है राष्ट्रीय स्तर पर सर्वे एक तरफ जहां कमलनाथ रायशुमारी के आधार पर नामों का चयन कर रहे हैं, वहीं प्रदेश में सर्वे कराने का काम ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) राजीव गांधी फाउंडेशन के सदस्यों को सौपा गया है। फाउंडेशन के सदस्य हर लोकसभा क्षेत्र में जाकर आमजन से प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा कर रहे हैं। इसके जरिये जिताऊ उम्मीदवार का नाम खोजा जा रहा है। हालांकि, सर्वे में जुटी ये टीम प्रदेश की सभी सीटों पर प्रत्याशियों की फायनल लिस्ट कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंपेगी। इन दोो सूचियों के मिलान के आधार पर प्रत्याशियों को चुना जाएगा। इधर,16 लोकसभा सीटों से प्रभारियों के नाम सर्वे के आधार पर सीएम के पास आ चुके हैं, जिन्हें संभावित प्रत्याशी कहा जा सकता है। सागर-खरगौन लोकसभा सीट खास मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को सागर और खरगौन लोकसभा सीट पर पार्टी की चुनावी तैयारियों को लेकर लोकसभा प्रभारियों और संबंधित मंत्रियों से फीडबैक लिया है। सागर लोकसभा सीट से पार्टी पदाधिकारियों ने बंद लिफाफे में जिन लोगों के नाम सौंपें हैं, उनमें पूर्व मंत्री प्रभु सिंह ठाकुर, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन, भूपेंद्र गुप्ता, भूपेंद्र सिंह मोहासा और पूर्व मंत्री प्रकाश जैन के नाम शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने सागर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली कांग्रेस द्वारा जीती गई विधानसभा सीटें और अन्य वे सीटें जिन पर कांग्रेस कितने वोटों से हारी है, वहां की जानकारी भी जुटाई है। सागर लोकसभा सीट से कांग्रेस साल 1991 से जीत हासिल नहीं कर पाई है। आखरी बार इसपर कांग्रेस के आनंद अहिरवार जीतकर सांसद चुने गए थे। इसके बाद से ही ये सीट सामान्य श्रेणी में चली गई। जब से लेकर अब तक बीते 28 सालों से इस सीट पर भाजपा का कब्जा है।

No comments:

Post a comment