Tuesday, 16 April 2019

कांग्रेस में बड़े बदलाव की तैयारी
डाॅ. अरूण जैन

क्या कहती है राहुल गांधी की कुंडली
बहुत से लोगों के मन में ये सवाल चल रहा है कि क्या राहुल गांधी देश के प्रधानमंत्री बनेंगें या एक बार फिर से राहुल गांधी के हाथ असफलता ही लगेगी. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सितारे वर्ष 2019 में कैसे रहेंगे, इसे लेकर सबके मन में कौतूहल है. राहुल गांधी का जन्म 19 जून 1970 को दोपहर 02; 28 में नई दिल्ली में हुआ है. इस समय के अनुसार राहुल गांधी की जन्म कुंडली तुला लग्न की है. वहीं इनकी चंद्र राशि धनु है. 2012 से ही राहुल गांधी की कुंडली पर साढ़े साती चल रही थी जो अब समाप्त होने वाला है. वर्ष 2019 से मंगल की महादशा आरंभ होगी, जो राहुल गांधी का भाग्योदय करा सकता है. राहुल गांधी की राशि में मंगल की महादशा चल रही है. ये मंगल मारकेश में है और भाग्य में बैठा हुआ है. 2019 वर्ष कुंडली को देखें तो ये वर्ष राहुल गांधी के लिए काफी अच्छे संकेत दे रहा है. राहुल गांधी के लिए प्रत्यक्ष राजयोग के प्रबल योग दिख रहे हैं. योतिषाचार्य कहते हैं कि राहुल गांधी लाभ भाव में विराजमान सप्तमेश चंद्रमा की महादशा में लग्नेश और धनेश शनि की अंतर्दशा चल रही है. ये कुछ हानि के बाद लाभ प्रदान करती है. पंडितों के अनुसार राहुल गांधी शनि की साढ़े साती का अंतिम चरण चल रहा है. जाता हुआ शनि काफी शानदार परिणाम लेकर आता है. जानकारों के अनुसार समय अनुकूल रहा तो राहुल गांधी अप्रत्याशित रुप से देश के प्रधानमंत्री की कुर्सी पर विराजमान हो सकते हैं.

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संगठन को दुरुस्त करने का मन बना लिया है। पार्टी में बड़ा फेरबदल होने जा रहा है। यह बदलाव चुनाव से पहले ही हो सकता है। इसके तहत छह राज्यों में अध्यक्ष बदले जा सकते हैं। वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया का कद बढ़ाने की योजना भी बन रही है। आइए जानें पूरी खबर क्या है। राहुल के विदेश दौरे से पहले हो सकती है घोषणा राहुल गांधी चुनाव से पहले ही कोई कसर छोडऩा नहीं चाहते हैं। इस वजह से वो अभी से संगठन को मजबूत करने की सोच रहे हैं। छह प्रदेशों के अध्यक्ष बदलने के साथ ही पीएल पुनिया और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बड़ा फैसला हो सकता है। राहुल 11 जनवरी को विदेश जा रहे हैं। वहां जाने से पहले ही बदलाव की फाइल पर अंतिम मुहर लग सकती है। इन प्रदेशों में हो सकता है बड़ा फेरबदल कांग्रेस सबसे पहले तीन राज्यों में जीत के बाद वहां कांग्रेस अध्यक्ष पद भरने की सोच रही है। सचिन पायलट के उपमुख्यमंत्री, कमलनाथ के मुख्यमंत्री और भूपेश बघेल के सीएम बनने के बाद यहां संगठन संभालने वाला कोई नहीं है। वहीं हरियाणा में अशोर तंवर और यूपी में राज बब्बर की छुट्टी हो सकती है। वैसे राज बब्बर चुनाव भी लडऩा चाहते हैं। इसके अलावा दिल्ली में भी अध्यक्ष को लेकर बड़ा निर्णय होना है। वहीं पीएल पुनिया दिल्ली आना चाहते हैं और सिंधिया समेत कुछ अन्य प्रभारियों को महासचिव पद देने की तैयारी है।

No comments:

Post a comment