Tuesday, 16 April 2019

चुनाव होंगे बेहद दिलचस्प, जानिये क्या कहता है कांग्रेस का सर्वे!

डाॅ. अरूण जैन


लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर सभी पार्टियां अपने अपने स्तर पर तैयारियां करने में जुटी हुई हैं। इन्हीं सब के बीच एक बड़ी सूचना सामने आ रही है, जिसके अनुसार अचानक कांग्रेस ने सर्वे रिपोर्ट के आधार पर बड़े नेताओं के संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में फेरबदल कर सकती है। जिसके बाद अब मध्यप्रदेश सहित देश के कुछ जगहों पर चुनाव बहुत ही दिलचस्प हो सकते हैं। सामने आ रही सूचना के अनुसार ज्योतिरादित्य सिंधिया इस बार गुना की जगह ग्वालियर लोकसभा सीट से खड़े हो सकते हैं। उन्हें गुना में अनुकूल चुनावी परिस्थितियां नहीं दिख रही हैं। वहीं ग्वालियर में भाजपा एक लंबे समय से अपनी मजबूती बनाई हुई है और ऐसे में भाजपा हर कीमत पर इस सीट को बचाने की कोशिश करेगी। जबकि ज्योतिरादित्य को काफी हद तक जनता आज भी महाराज मानती है। ऐसे में ग्वालियर में होने वाली भाजपा कांग्रेस की भिडंत कई मामलों में दिलचस्प हो सकती है। सर्वे रिपोर्ट ने सिंधिया को चौंका दिया है। गुना में अंदरूनी विरोध से नुकसान होने की आशंका को देखते हुए सिंधिया अब ग्वालियर जा सकते हैं। अभी तक सिंधिया और उनकी पत्नी प्रियदर्शिनी सिंधिया ने गुना संसदीय क्षेत्र में फोकस कर रखा था। संभावना जताई जा रही है कि राहुल गांधी से चर्चा के बाद सिंधिया ग्वालियर से उतरेंगे। वहीं दूसरी ओर इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का मुकाबला भी अलबेला माना जा रहा है। दरअसल अमेठी नेहरू-गांधी परिवार का गढ़ रहा है। 1967 से अब तक सिर्फ एक बार जनता पार्टी और एक बार भारतीय जनता पार्टी को अमेठी में जीत नसीब हुई है। सपा-बसपा ने इस बार अमेठी सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी है। 2014 के चुनाव में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भले ही अमेठी से चुनाव हार गई थीं, पर वे यहां सक्रिय हैं। इस सीट पर वर्तमान सांसद व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और स्मृति ईरानी के बीच टक्कर की संभावना है। सीट की वर्तमान राजनीतिक स्थिति कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी वर्तमान में अमेठी से सांसद हैं। इससे पहले भी वह दो बार इस सीट से सांसद चुने गए। 2014 के बाद राहुल गांधी आधा दर्जन से अधिक बार अमेठी आ चुके हैं।

No comments:

Post a comment