Wednesday, 23 May 2018

रिश्तेदारों के भरोसे चल रही टीवी की इस मशहूर अभिनेत्री की गाड़ी

अरूण जैन
 डॉक्टर सिमरन से मशहूर हुई निकी वालिया शादी के बाद अमेरिका मे जाकर रहने लगी थीं लेकिन हाल ही में जब उन्हें धारावाहिक दिल संभल जा जरा  का प्रस्ताव मिला तो वह भारत लौट आईं। यहां निकी होटल में रुकने के बजाय अपने रिश्तेदारों के घर रुकी हुई हैं। पेश है उनसे की गई बातचीत के कुछ अंश। आप दिल संभल जा जरा में लैला रायचंद का किरदार निभा रही हैं। असल मायने में लैला कैसी है?लैला रायचंद एक धनी, मौकापरस्त महिला है और अहाना एवं सलोनी रायचंद की मां भी है। समाज में उसका रुतबा काफी बड़ा है और इसे कायम रखने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकती है। वह एक मजबूत इरादों वाली महिला है। उसे हार कतई मंजूर नहीं है। उसके और अहाना के बीच विचारों का अंतर होने के बावजूद वह अपनी जिंदगी के मुताबिक अपनी बेटी के फैसलों को प्रभावित करने में कोई कसर नहीं छोड़ती है। क्या आप यहां पर होटल में रुकी हुई हैं या फिर आपने कोई किराए का घर लिया है?आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इतने दिनों से न तो मैं होटल में रह रही हूं और न ही मैंने अपने लिए कोई किराए का घर लिया है। यहां मेरे रिश्तेदार हैं और मैं बारी-बारी से उनके घर में रह रही हूं। मेरे पति नहीं चाहते कि मैं होटल में रहूं, इसलिए मुझे रिश्तेदारों के भरोसे काम चलाना पड़ रहा है। हालांकि वे सभी बहुत अच्छे हैं और मुझे प्यार से रखते हैं। अमेरिका में सेटल होने के बाद आपने इस शो के जरिए वापसी करने का फैसला क्यों लिया?
मैं टेलीविजन पर वापसी करने के मौके तलाश रही थी। वैसे भी विक्रम भट्ट के साथ काम करने का मौका मैं कैसे छोड़ सकती थी। टीवी पर जिस तरह के शोज आ रहे थे, मैं उन्हें देख रही थी और ये शो अनूठा होने के बावजूद काफी वास्तविक लगता है। आजकल हम शहरों में जिस तरह के रिश्ते देखते हैं, यह शो आज के समय की कहानी कहता है। इसकी कहानी को विक्रम ने जिस तरह इसे पेश किया, इसने मुझे टीवी पर वापसी करने के लिए प्रेरित किया। यह टेलीविजन पर दिखाई जाने वाली आम रोमांटिक कहानी जैसी नहीं है और इसलिए मैंने इस मौके को हाथ से नहीं जाने दिया। साथ ही ये भूमिका 'अस्तित्वÓ में डॉक्टर सिमरन के किरदार से निश्चित रूप से काफी अलग है। विक्रम भट्ट के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?मैं हमेशा से ही विक्रम के काम की कायल रही हूं। वह ऐसे इंसान हैं, जो अलग हटकर सोचते हैं और वह एक बेहतरीन कहानीकार हैं। उन्होंने लैला के किरदार को मेरे सामने इतनी खूबसूरती से बयां किया कि मुझे उससे फौरन प्यार हो गया। वह अक्सर सेट पर आते हैं। हमारे बीच काफी अच्छी बॉन्डिंग है। आपने 'शानदारÓ में संजय कपूर के साथ काम किया था, इस शो में आपकी केमिस्ट्री कैसी है?एक कलाकार और एक इंसान के रूप में मैं संजय की बहुत इज्जत करती हूं। मुझे यह जानकर बेहद खुशी महसूस हुई कि हम एक बार फिर साथ काम करने वाले हैं। उनका स्वभाव इतना अच्छा है कि काम की थकान के दौरान उनसे बात कर वाकई बहुत मदद मिलती है। संजय कभी भी नहीं जताते कि वह कौन हैं और किस परिवार से हैं। हमेशा वह कोशिश करते हैं कि माहौल को हल्का-फुल्का बनाए रखें, जिससे कि बाकी लोगों को काम करने में आसानी हो। 

No comments:

Post a comment