Tuesday, 28 June 2016

 शिवराज सरकार के मंत्रीमंडल का विस्तार लगभग तय


डॉ. अरूण जैन
सुत्रो के हवाले से खबर 27 जुन को मप्र शिवराज सरकार के मंत्री मंडल का विस्तार लगभग तय , एंव सुत्रो को मिली जानकारी के अनुसार इन चार विधायको का तो मंत्री बनना लगभग तय अंतिम मुहर  लगना बाकी । एंव सुत्रो के मुताबिक इनके मंत्री पद भी लगभग तय । 1) मल्हारगढ विधानसभा से पुर्व मंत्री जगदिश देवडा , को गृहमंत्री बनाया जा सकता है  2)नारेला विधानसभा से विश्वास सांरग  को जैल मंत्री बनाया जा सकता है  3 ) इंदौर2 विधानसभा से रमेश मेंदौला को श्रम मंत्री बनाया जा सकता है  4) भोपाल से रामेश्वर शर्मा  को राज्यमंत्री बनाया जा सकता है । इन पर लग सकती है अंतिम मुहर । मध्यप्रदेश मंत्री मंडल विस्तार भ्रष्ट मंत्रियों के बदलेगे विभाग...मध्यप्रदेश मे मंत्री मंडल के विस्तार की चर्चाओं की पुष्टि होते ही जहां दावेदार की सक्रीयता बढ गई है।वही वर्षों से सरकार मे जमे कुछ मंत्रियों को हटाकर संघठन के काम मे लगाया जा सकता है। भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे कुछ मंत्रियों के विभागों मे फेरबदल किए जाने के संकेत है। शिवराज सरकार के इस विस्तार को मंत्री मंडल का 2018 चुनाव तक का अंतिम विस्तार माना जा रहा है।वर्तमान मंत्री मंडल मे एक दशक से ज्यादा समय से सरकार मे शामिल रहे है उनकी बायोग्राफी प्रदेश का खूफिया तंत्र लिखने मे जुटा है।सूत्र बताते है कि एक मंत्री अपने विभागों को बचाने की जुगत लगाने मे जुटे है वे अपने को मुख्यमंत्री के पसंदीदा मंत्री मे गिनवा कर खुद ही सौशल मीडिया मे संक्रीय बार लिखवा भी रहे है अच्छे प्रोफारमेंस के कारण विभागों मे फेरबदल संभव है लगातार चौथी बार प्रदेश की सरकार बनाने के लिए भाजपा संघठन को सत्ता विरोधी लहर चिंता सता रही है।प्रदेश संघठन उन मंत्रियों को लेकर उहापोह की स्थिति मे है जो सरकार मे मठाधीश बन चुके है।एक सर्वे रिपोर्ट के अनुसार कुछ मंत्री अपना क्षेत्र सुरक्षित कर अपने जिले मे केवल हम जीते की बिसात बिछाने मे जुटे है।सूत्रों की माने तो चंबल क्षेत्र से नरोत्तम मिश्रा को संसदीय कार्य मे सफल माना जा रहा है वही स्वास्थ्य विभाग बदनामी झेल रहा है।मालवा मे दीपक जोशी का कद बढाया जा रहा है।बुन्देलखंड मे कुसुम मेहदेले,जयंत मलैया,गोपाल भार्गव,भूपेन्द्र सिंह बडे चेहरे है।इन मंत्रियों मे मलैया और भार्गव के पास भारी भरकम विभाग है।मलैया के विभाग का जनता से सीधा जुडाव नही है ऐसी स्थिति मे पंचायत, ग्रामीण विकास, सहकारिता, समाजिक न्याय यह विभाग संघठन और सरकार की नजरों मे प्रमुखता से है।पंचायत और सहकारिता विभाग मे हुए घौटालो की चर्चाए दिल्ली के गलियारों मे भी चर्चित है। 

No comments:

Post a comment