Wednesday, 11 July 2018

आंतरिक सर्वे से भयभीत भाजपा हाईकमान,अमित शाह ने आनन – फानन में बनाया मप्र आने का प्रोग्राम

डाॅ. अरूण जैन
मप्र विधानसभा के इस साल के अंत मे प्रस्तावित चुनावों की सर्वे रिपोर्ट्स से सत्तानशीन भाजपा की नींद उड़ी हुई है । मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंडला में दौरा कर आदिवासी और दलितों को साधने की कोशिश कर चुके है । अब पार्टी हाईकमान अपने इस गढ़ को बचाने के लिए पूरी ताकत झोंकना चाहता है । इसके चलते अब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह खुद कमान संभालने जा रहे है  । आनन फानन में उन्होंने मप्र का दौरा तय किया है । वे 400 मंडल अध्यक्षो के साथ बैठक करके फीडबैक लेना चाहते है । इस दौरान वे मंत्रियों से भी मिलेंगे और मंत्रिमंडल के अंतिम विस्तार पर भी चर्चा करेंगे । वे 4 मई को भोपाल पहुंचेंगे । अमित शाह के दौरे को चुनावी श्रीगणेश के तौर पर देखा जा रहा है। अमित शाह यहां पर पार्टी के सभी 400 मंडलों की बैठक लेंगे। इस मैराथन बैठक में पूरे चुनाव की रणनीति तय करने का काम शुरू होगा। श्री  शाह यहां पर प्रदेश भाजपा की चुनावी तैयारियों की भी समीक्षा करेंगे। सूत्रों की माने तो  वह उप चुनावों में मिली हार के कारणों और आगे चुनाव में कैसे उतरना है, दोनों पर बात करेंगे। ऐसे में अमित शाह के दौरे को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है। दरअसल, इस साल के आखिर में मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव हैं। प्रदेश में भाजपा का ग्राफ पिछले कुछ महीनों में गिरा है। लगातार उपचुनाव में हार और नगरीय चुनावों में भी पार्टी ने हार का सामना किया है। पार्टी और संघ द्वारा कराए गए आंतरिक सर्वे में भी भाजपा की हालत पतली नजर आ रही है ।ऐसे में पार्टी के भीतर एक डर बना हुआ है। दूसरी ओर कांग्रेस भी चुनावी तैयारी में जुटी है। पार्टी की चुनावी तैयारी क्या हैं और उस पर किस तरह से प्रदेश में काम हो रहा है, इसको जांचने के लिए खुद राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 4 मई को मध्यप्रदेश आ रहे हैं। बैठक संभावित तौर पर भोपाल में ही होगी, जिस में सभी मंडल प्रभारियों से अमित शाह सीधे संवाद करेंगे।

No comments:

Post a comment